Banner 1
Banner 2

साईं तेऊ राम जयंती का महत्व

साईं तेऊ राम जयंती की लोकप्रियता लोगों के बीच काफी है। दूसरे शब्दों में यह कहा जा सकता है कि हिंदू समुदाय की ओर से इस जयंती को पूरे भारत में बहुत ही जोर-शोर से मनाया जाता है । भक्तों के दिल में इस जयंती का बहुत ही महत्तव रहा है। साईं तेऊ राम जयंती को महान संत साईं तेऊ राम के सम्मान और प्रशंसा के रुप में हर साल मानाया जाता है और इसी कारण इसे साईं तेऊ राम जयंती के नाम से जाना जाता है।

साईं तेऊ राम जयंती का महत्व -

साईं तेऊ राम जयंती का एक खास महत्तव है। यह जंयती लोगों को सही राह पर चलने की सीख देती है। इसके अलावा यह त्यौहार लोगों को प्यार व सम्मान से रहने की सीख भी देती है। इसके अलावा यह त्यौहार अपने भक्तों के बीच बहुत ही मूल्यवान और अविश्वसनीय शिक्षा देने के लिये भी जाना जाती है। हिंदू धर्म में इस त्यौहार का बहुत ही अधिक महत्तव है।  लोगों के बीच यह जयंती बहुत ही चर्चित है। लोग साईं तेऊ राम का बहुत अधिक सम्मान करते हैं। उन्होंने हमेशा से ही शांति, सौहाद्र और प्यार का संदेश फैलाया है।

और सबसे अच्छी बात यह है कि लोग हमेंशा से ही उनके सत्संग और भजनों को सुनने के लिये लालयित रहे है क्योंकि ये उन्हें प्यार और शांति का संदेश देती है। अभी तक काफी लोग उनका सत्संग और भजन सुन चुके है और काफी प्रभावित भी है। उनका सत्संग और भजन लोगों को सदैव सही मार्ग पर चलने का संदेश देता है। यही नही उन्हें अपने नियमित आध्यात्मिक उपदेशों के लिए भी बहुत अधिक सम्मान दिया जाता है और इसी कारण उन्हें महान हिंदू संत में से एक माना जाता है।

साईं तेऊ राम के जीवन का सार -

साईं तेऊ राम ना केवल देश में बल्कि विदेशों में भी काफी लोकप्रिय है। साईं तेऊ राम जयंती काफी जोर-शोर से मनाई जाती है और ये इस बात का प्रमाण है। लोगों के बीच शांति, प्यार और आध्यात्मिकता फैलाने में इनका बहुत ही बड़ा योगदान रहा है। आप सोच रहे होंगे कि यह जयंती किस प्रकार से मनाई जाती है

इस दिन भक्त विशेष रुप से प्रार्थना करते हैं जिसमें न केवल खुद के लिये शांति व प्यार ब्लिक पूरे विश्व के कल्याण की बात भी की जाती है। हिंदुओं के बीच साईं राम राम जयंती काफी प्रसिद्ध है क्योकि उनके संदेश और भजन लोगों को सही रास्ता दिखाते है। यह कहना गलत नहीं होगा कि उनका नाम वास्तव में हिंदू संस्कृति को बहुत ही सही तरीके दर्शाता है।

        सतगुरु स्वामी तेणुराम जी महाराज अपने दादा साईं तेउन राम के प्रति बहुत ही प्रेम और सौहाद्र रखते है और इसी कारण साईं तेऊ राम जयंती का आयोजंन हर साल बहुत ही हर्षोल्लास के साथ किया जाता है।

        साईं तेउ राम जयंती उत्सव को एक महान अवसर की उपाधि दी गई है क्योंकि लोग इस बात की प्रतिज्ञा लेते है कि पूरे साल सही रास्ते पर चलेंगें। इसके साथ ही, शांति और प्रेम को फैलाते रहेंगें।

        इस विशेष दिन पर बहुत सारा दान भी किया जाता है ताकि जरूरतमंद लोगों की मदद आसानी से की जा सके। वहीं कुछ लोग इस शुभवसर पर मिठाई भी बांटते है और जरुरतमंद लोगों की मदद करते हैं।

अंत में -

साईं तेऊ राम जयंती को जोर शोर से मनाने को उद्देश्य यह है कि पूरे विश्व में अधिक से अधिक शांति और सद्भाव फैलाना जा सके।