Indian Festivals

गणेश महोत्सव प्रारम्भ| on 10 Sep 2021 (Friday)

गणेश महोत्सव प्रारम्भ|
सम्पूर्ण साल सभी व्यक्ति गणेश उत्सव जैसे महत्वपूर्ण त्यौहार का इंतज़ार करते हैं "की कब गणपति देव आएंगे और उनके विघ्नो को हर ले जाएंगे| भाद्रपद शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि के दिन से गणेश उत्सव मनाया जाता है| यह पर्व दस दिन तक मनाया जाता है और ग्यारहवे दिन अर्थात "अनंत चतुर्दशी" के दिन गणेश जी का विसर्जन किया जाता है| पूरे भारत में सभी लोग गणेश उत्सव अपनी क्षमता व् रीती रिवाज़ों के साथ मनाते हैं| यह त्योहार घर घर में तो मनाया जाता ही है, साथ ही कुछ जगहों पर समूह में भी यह त्यौहार मनाया जाता है|

कैसी हो गणपति बाप्पा की मूर्ति:-
सामान्य स्थितियों में या सभी मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए सफ़ेद रंग के गणेश जी पीली धोती में मूषक व् मोदक के साथ, जीवन के सभी विघ्नो को दूर करते हैं| गणेश जी की सूंड का ख़ास ध्यान रखें, घर में गणपति मूर्ति स्थापना करते समय उनकी सूंड बाईं ओर मुड़ी हो, अर्थात गणपति जी वामवर्ती होने चाहिए|
Chaturthi, Ganesh Mahotsav, Ganesh Chaturthi 2021 Date,   Ganesh Utsav 2021, Ganesh Statue, Gober Ganesh Pratima, Cow dung Ganesh, Ganesh Festival 2021, Ganesh Chaturthi 2021 Date, गणेश चतुर्थी 2021, गणेश प्रतिमा, गोबर गणेश, गणेशोत्सव, प्रसिद्ध गणेश मंदिर, आरती: श्री गणेश जी, गणपति श्री गणेश चालीसा, श्री गणेश भोग आरती, गणेश आरती, श्री गणेशपञ्चरत्नम् - मुदाकरात्तमोदकं, श्री गणेश अष्टोत्तर नामावलि, पारंपरिक मोदक, मावा के मोदक, बेसन के लड्‍डू, गणेश उत्सव, गणेश उत्सव 2021,श्री गणेश महोत्सव, History of Ganesh Chaturthi festival in Hindi,गणेश चतुर्थी के त्योहार, गणेश महोत्सव की उत्पत्ति और इतिहास, ganesh chaturthi 2021, know about ganesh chaturthi, significance and mahurat timings ganeshotsava,ganesh chaturthi pujan vidhi, श्री गणेश पूजन की सरल प्रामाणिक विधि, गणेश जी की सरलतम विधि से पूजन, श्री गणेश चतुर्थी,ganesh chaturthi 2021, know about ganesh chaturthi, significance and mahurat timings ganeshotsava Ganesh Chaturthi, Ganesh Chaturthi 2021, Vinayaka Chaturthi, Ganesh Chaturthi 2021 date,
कैसे करें मूर्ति स्थापना|
  1. सर्व प्रथम ब्रह्म मुहूर्त में उठने का प्रयास करें अन्यथा सवेरे जितना जल्दी हो सकते उठने का प्रयास करें|
  2. घर की अच्छे तरीके से सफाई करें यदि घर में कोई क्लटर एकत्रित कर रखा है तो उसे निकाल दें|
  3. अब घर के सभी सदस्य सर धोते हुए स्नान करें और नए व् स्वच्छ वस्त्र पहने|
  4. घर के मंदिर के निकट संभव हो अन्यथा एक स्वच्छ स्थान पर गणपति जी के लिए स्थान तैयार करें|
  5. एक बड़ी चौकी लें उसपे लाल वस्त्र बिछाएं|
  6. एक चावल की ढेरी बनाएं उसपे कलश रखें|
  7. कलश पर स्वस्तिक बनाएं व् आम के पत्तो के साथ श्री फल उसपे रखें|
  8. गणपति जी का स्थान व् घर जितना संभव हो उतना सजाएं|
  9. घर के मुखिया या घर का कोई भी बड़ा व्यक्ति गणेश जी को आदर सत्कार के साथ घर लेकर आएं|
  10. संभव हो तो गाजे बाजो के साथ गणेश जी को लाएं अन्यथा गणपति जी के जैकारो के साथ लाएं|
  11. गणेश जी को उनके स्थान पर बैठाएं व् उनका षोडशोपचार पूजन करें:-
  • आवाहन - समस्त देवी देवताओ का ध्यान कर उनका स्वागत करें|
  • आसन - सब देवी देवताओं का ध्यान कर उन्हें स्थान ग्रहण कराएं
  • पद्य - जल से सभी देवी देवताओं के चरण धोये
  • अर्ग्य - हाथों पर जल छींटा देकर हाथ धोये
  • आचमन - जल से आचमन करें
  • स्नान - मूर्तियों अथवा खुद पर गंगाजल का छींटा देकर शुद्ध करें
  • वस्त्रम - भगवन गणेश को क्षमता अनुसार वस्त्र अर्पित करें. अगर वस्त्र न हो तो मोली को वस्त्र के रूप में अर्पण करें
  • यज्ञोपवीत - गणेश जी को जनेऊ अर्पित करें.
  • आभरणाम - भगवन गणेश को क्षमता अनुसार गहने अर्पित करें. (मानसिक रूप से भी आप गहने अर्पित कर सकते हैं)
  • गंध - गणेश जी को चन्दन की सुगंध अर्पित करें
  • पुष्पम - पीले फूलों की माला भगवन को अर्पित करें| गणेश जी पर 5, 11, 21 दूर्वा अवश्य अर्पित करें| 
  • धूपं - धुप अथवा अगरबत्ती लगाएं
  • दीपम - घी अथवा तिल के तेल का दीपक जलाएं
  • नैवेद्य - फल, मिठाईयों का भोग भगवन गणेश को लगाएं
  • अर्चना - सबसे पहले गणेश वंदना कर पूजा शुरू करें| गणेश मन्त्र का जप करें (ॐ गं गणपतये नमः) व् गणेश चालीसा श्री गणेश चालीसा का पाठ करें व् गणेश आरती गणेश जी की आरती भी करें|
  • नमस्कारम - अपनी पूजा के पूर्ण होने पर गणेश भगवान सहित समस्त देवी देवता को नमस्कार कर अपनी पूजा स्वीकार करने की प्रार्थना करें|  ggaaganpati sthapana#ganpati sthapana Time 2021 #ganesh sthapana 2021 Ganesh chaturthi auspicious time  #ganesh chaturthi mantra #ganesh chaturthi pooja vidhi