Indian Festivals

नाग पंचमी on 02 Aug 2022 (Tuesday)

नाग पंचमी का महत्व-

नाग पंचम पर्व के दिन लोग नाग देवता के चित्रों के साथ साथ कई रूपों में सांपों की पूजा करते हैं. इस दिन सांपों का आशीर्वाद पाने के लिए कई अनुष्ठान किए जाते हैं. इस पर्व के अवसर पर ग्रामीण लोग सांपों को मंदिर में ले जाते हैं और संगीत पर नृत्य करते हैं. इस दिन सांपों को दूध, चावल चढ़ाया जाता है और उनसे परिवार को सुरक्षा देने के लिए प्रार्थना की जाती है. nag panchami 2021,  nag panchami 2021,  nag panchami 2021 in india,  nag panchami 2020 date,  Nag Panchami,  naag panchami 2021

कब मनाया जाता है नाग पंचम 

नाग पंचमी महोत्सव -

यह पर्व भद्रापद कृष्ण पक्ष की पंचमी तिथि  (जुलाई - अगस्त) में मनाया जाता है

पौराणिक कारण 

नागपंचम या नाग पंचमी एक हिंदू त्योहार है. यह भगवान नाग को समर्पित है। इस त्योहार का नाम इस तथ्य से मिलता है कि यह पांचवें दिन को मनाया जाता है जिसे सावन हिंदू महीने के चांदनी पखवाड़े की पंचमी कहा जाता है.

नाग पंचम व्रत कथा

नाग पंचम की कथा भगवान कृष्ण से जुड़ी हुई है. किवदंतियों के अनुसार भगवान कृष्ण के मामा कंस ने उन्हें मारने के लिए कालिया नाग को भेजा था. एक बार जब भगवान कृष्ण अपने दोस्तों के साथ नदी के किनारे गेंद खेल रहे थे तब उनकी गेंद गलती से नदी के अंदर चली गई. जब भगवान कृष्ण गेंद लाने के लिए नदी के अंदर गए तो कालिया नाग ने उन पर हमला कर दिया, पर कृष्ण के आगे कालिया नाग की शक्तियों का कोई प्रभाव नहीं हुआ. तब कालिया नाग ने भगवान कृष्ण से क्षमा मांगते हुए वचन दिया कि वह कभी भी गांव वालों को कोई क्षति नहीं पहुंचाएगा और वहां से हमेशा हमेशा के लिए प्रस्थान करेगा. कालिया नाग पर श्री कृष्ण की जीत को भद्रापद कृष्ण पक्ष की पंचमी तिथि, नाग पंचमी के त्यौहार के रूप में मनाया जाता है. nag panchami 2021,  nag panchami 2021,  nag panchami 2021 in india

नागपञ्चम से जुडी विशेष बातें-

गुजरात में नाग पंचम पर्व की पूजा साँप और हिंदू नाग देवता वासुकी, और अनंत को समर्पित है. इस दिन, लोग सर्प को देवताओं का प्रतिनिधि मानकर उनकी पूजा करते हैं. मानसा देवी सांपों की एक हिंदू देवी हैं. मनसा देवी की पूजा  मुख्य रूप से बंगाल और उत्तर भारत के अन्य हिस्सों में की जाती है.