Banner 1
Banner 2

सीता नवमी का महत्व on 02 May 2020 (Saturday)

 

क्या है सीता नवमी-

सीता नवमी को  सीता जयंती या जानकी नवमी के नाम से भी जाना जाता है, सीता नवमी का पर्व देवी सीता के अवतार, देवी लक्ष्मी और भगवान राम के जीवनसाथी के रूप में मनाया जाता है। देवी सीता का जन्म धरती के द्वारा हुआ था। महराजा जनक ने माता सीता की खोज की और उन्हें अपनी पुत्री के रूप में स्वीकार किया।  सीता नवमी या सीता जयंती का पर्व शुक्ल पक्ष, चंद्रमा और नवमी तिथि के दिन मनाया जाता है। हिंदू कैलेंडर के अनुसार सीता नवमी का पर्व वैशाख मास के चंद्र महीने में 9 वें दिन मनाया जाता है और हर वर्ष चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को राम नवमी का पर्व मनाया जाता है। सीता नवमी या सीता जयंती का पर्व विशेष रूप से विवाहित महिलाओं के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। जो भी विवाहित महिला सीता नवमी के दिन व्रत करके पूरी श्रद्धा और आस्था के साथ माता सीता की पूजा करती है उसके पति को लम्बी उम्र का वरदान प्राप्त होता हैं।