Indian Festivals

स्वर्ग की सीढ़ी|

स्वर्ग की सीढ़ी|
 

देवशयनी एकादशी के दिन ब्रह्म मुहूर्त में जाग कर भगवान विष्णु की विशेष पूजा की जाती है. अगर आप मृत्यु के पश्चात मोक्ष प्राप्त करने की कामना रखते हैं तो देवशयनी एकादशी के दिन रात्रि में जागरण करके विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करें. इसके पश्चात जमीन पर बिस्तर लगा कर सोए. पुराणों में बताया गया है कि जो भी मनुष्य देव शयनी एकादशी का व्रत करता है उसकी सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं. इसके अलावा देवशयनी एकादशी का व्रत करने से सभी पाप नष्ट हो जाते हैं और मृत्यु के पश्चात स्वर्ग लोक की प्राप्ति होती है