Banner 1
Banner 2

परिवार की सुख समृद्धि के लिए महत्वपूर्ण होती है दर्श अमावस्या on 22 Feb 2020 (Saturday)

परिवार की सुख समृद्धि के लिए महत्वपूर्ण होती है दर्श अमावस्या 

दर्श अमावस्या का महत्व

हिंदू शास्त्रों के अनुसार दर्श अमावस्या के दिन पूरी रात चंद्रमा आकाश में छुपा रहता है. मान्यताओं के अनुसार परिवार की सुख समृद्धि और उद्धार की कामना के लिए दर्श अमावस्या का दिन बहुत महत्वपूर्ण होता है. दर्श अमावस्या के दिन पूर्वजों की पूजा करना भी शुभ कार्य होता है. इस दिन चंद्र दर्शन करना बहुत आवश्यक होता है. दर्श अमावस्या के दिन चंद्रमा को देखने के पश्चात ही उपवास आदि रखने का नियम है. हमारे शास्त्रों के अनुसार जो भी व्यक्ति दर्श अमावस्या के दिन सच्चे मन से चंद्रदेव की प्रार्थना करता है चंद्रदेव उसकी प्रार्थना स्वीकार करते हैं और उसकी सभी मनोकामनाएं को पूर्ण करते हैं

दर्श अमावस्या से जुड़ी विशेष बातें

• जो मनुष्य अमावस्या के दिन उपवास करके पूजा करता है उन्हें चंद्रदेव की विशेष कृपा दृष्टि प्राप्त होती है

• दर्श अमावस्या के दिन उपवास और पूजन करने से अच्छे भाग्य और सिद्धि की प्राप्ति होती है

• दर्श अमावस्या के दिन भगवान चंद्र देव की श्रद्धा पूर्वक पूजा करने से मनुष्य के जीवन में जिन कार्यों में मुश्किलें रही होती हैं वह सब खत्म हो जाती हैं

• इस दिन चंद्र दर्शन और उपवास करने वाले व्यक्ति को आध्यात्मिक और संवेदनशीलता प्राप्त होती है

• मान्यताओं के अनुसार भगवान चंद्र देव की श्रद्धा पूर्वक पूजा करने से मन को शीतलता और शांति प्राप्त होती है

• जिन लोगों के जीवन में बहुत अधिक संघर्ष होता है उन्हें दर्श अमावस्या के दिन भगवान चंद्र देव की पूजा अवश्य करनी चाहिए

• भगवान चंद्र देव जीवन की सभी समस्याओं को समाप्त कर देते हैं

• जो लोग मोक्ष प्राप्त करना चाहते हैं उन्हें दर्श अमावस्या के दिन उपवास करके चंद्र देव का दर्शन करना चाहिए

• शास्त्रों में बताया गया है कि चंद्रमा के देवता चंद्र देव को नवग्रहों में सबसे महत्वपूर्ण माना जाता हैं

• चंद्र देव को भावनाओं और दिव्य अनु ग्रहों का स्वामी माना जाता है

• इसके अलावा चंद्र देव पौधे और पशु जीवन का भी पालन पोषण करते हैं

• पित्र दोष का निवारण करने के लिए भी दर्श अमावस्या को बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है .

• ज्योतिष शास्त्र के अनुसार दर्श अमावस्या के दिन मां लक्ष्मी और भगवान विष्णु की पूजा करने से विवाह में रही सभी बाधाएं दूर हो जाती हैं

 • दर्श अमावस्या को श्राद्ध अमावस्या भी कहा जाता है

• इस दिन पूर्वजों की पूजा जरूर करनी चाहिए. दर्श अमावस्या के दिन पूर्वजों की पूजा को बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है

दर्श अमावस्या पूजन विधि

• शास्त्रों में बताया गया है कि अमावस्या के दिन स्नान दान करना बहुत महत्वपूर्ण होता है

• वैसे दर्श  अमावस्या के दिन गंगा स्नान का विशेष महत्व होता है, पर अगर आपके घर के आसपास गंगा नदी नहीं है तो आप अपनी नहाने के पानी में थोड़ा सा गंगाजल मिलाकर भी स्नान कर सकते हैं

• इसके पश्चात शिव पार्वती और तुलसी मां की पूजा की जाती है

• दर्श अमावस्या के दिन हनुमान जी की पूजा का भी विशेष महत्व होता है

• इस दिन हनुमान जी की पूजा करने से जीवन से सभी प्रकार के रोग और दोष खत्म हो जाते हैं

• अगर कोई व्यक्ति दर्श अमावस्या के दिन सौ बार हनुमान चालीसा का पाठ करता है तो जीवन में सभी समस्याएं खत्म हो जाती हैं.