Banner 1
Banner 2

शनि जयंती on 22 May 2020 (Friday)

शनैश्चर  जयंती पर ऐसे करें शनिदेव की पूजा

शनिदेव की पूजा प्रमुख देवताओं के रूप में की जाती है. भगवान शनिदेव का जन्म वैशाख अमावस्या के दिन 12:00 बजे हुआ था. इसीलिए हमेशा अमावस्या के दिन शनैश्चर जयंती मनाई जाती है. शनि देव भगवान सूर्य और छाया के पुत्र हैं. सूर्य के अन्य पुत्रों की अपेक्षा शनिदेव हमेशा से ही उग्र स्वभाव के थे.शनि देव को मकर और कुंभ राशि का स्वामी माना जाता है और इन की महादशा 19 वर्षों तक चलती है. शनिदेव का रंग सांवला होता है और इनका वाहन गिद्ध है. शनि देव एक राशि में 30 महीने रहते हैं. शनिदेव को बहुत ही क्रूर ग्रह माना जाता है. यदि किसी व्यक्ति पर शनिदेव की कुदृष्टि पड़ जाए तो उस व्यक्ति का विनाश शुरू हो जाता है